भारतीय स्टॉक एक्सचेंज मार्केट कैपिटलाईजेशन के लिहाज से बना दुनिया का छठा सबसे बड़ा एक्सचेंज

[ad_1]

Indian Stock Market Update: भारतीय शेयर बाजारों ने मार्केट कैप के लिहाज से ब्रिटेन के शेयर बाजार को पीछे छोड़ दिया है. ये पहला मौका है जब भारतीय शेयर बाजार ने ये ऐतिसाहिक उपलब्धि हासिल की है. रूस यूक्रेन युद्ध के चलते दुनियाभर के शेयर बाजारों में भारी गिरावट देखी जा रही है खासतौर से यूरोपीय देशों के शेयर बाजारों में जिसका फायदा भारतीय शेयर बाजारों को मिला है. मार्केट कैपिटलाईजेशन के लिहाज से भारतीय शेयर बाजार दुनिया छठां सबसे बड़ा शेयर बाजार बन गया है. 

गुरुवार के कारोबारी सत्र भारतीय शेयर का मार्केट कैपिटाईजेशन 3.16674 लाख करोड़ डॉलर पर पहुंच गया जबकि ब्रिटेन के शेयर बाजार का मार्केट कैपिटाईजेशन 3.1102 लाख करोड़ डॉलर पर है. यूक्रेन और रूस के बीच युद्ध के शुरुआत के बाद से भारतीय शेयर बाजार के मार्केट कैपिटाईजेशन में 357.05 अरब डॉलर की गिरावट आई है जबकि 1 फरवरी के बाद से ब्रिटेन के शेयर बाजार के मार्केट कैपिटाईजेशन में 410 अरब डॉलर की गिरावट ईऊ है. 

दुनिया के दूसरे बड़े बाजारों पर नजर डालें तो 46.01 लाख करोड़ डॉलर के मार्केट कैप के साथ अमेरिकी शेयर बाजार दुनिया का सबसे स्टॉक मार्केट है. चीन का शेयर बाजार दूसरे स्थान पर है जिसका मार्केटकैपिटलईजेशन 11.31 लाख करोड़ डॉलर है. जापान का शेयर बाजार 5.78 लाख करोड़ डॉलर मार्केट कैपिटलाईजेशन के साथ तीसरे स्थान पर, 5.50 लाख करोड़ डॉलर के साथ हॉगकॉग चौथे स्थान पर और पाचवें स्थान पर सऊदी अरब है जिसका मार्केट कैपिटाईजेशन 3.25 लाख करोड़ डॉलर है. 

कच्चे तेल की कीमतों में उछाल का फायदा सऊदी अरब को मिला है जिसके चलते वहां के शेयर बाजार के मार्केट कैपिटाईजेशन में जबरदस्त उछाल आया है. बीते एक महीने में सऊदी अरब के मार्केट कैपिटलाईजेशन में करीब 442 अरब डॉलर की बढ़ोतरी देखने को मिली है.  

ये भी पढ़ें : 

Crude Oil Price: भारत के लिए राहत की खबर, कच्चे के दामों में आई 13 फीसदी की बड़ी गिरावट

Morgan Stanley On Sensex: मार्गन स्टैनले की भविष्यवाणी, साल के अंत तक 75,000 के आंकड़े को छू सकता है सेंसेक्स

[ad_2]

Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.